Discussion on "Kashmir After Abrogation of Article 370: Real Narrative from the Ground" on Monday, 21st October 2019 at 6 PM, Lecture Hall 2 (Annexe), India International Centre, Max Mueller Marg, New Delhi

Salient Points of Press Statement by Prime Minister during his visit to Kyrgyzstan

Your Excellency, Kyrgyz Republic के राष्ट्रपति और मेरे मित्र Mr. सुरोन्बाय जीन्बेकोव,

Ladies and gentlemen,

मेरे प्रतिनिधिमंडल और मेरे गर्मजोशी से सत्कार के लिए, मैं राष्ट्रपति जीन्बेकोव का आभार व्यक्त करता हूं।. मैं Kyrgyzstan को लगभग पिछले 30 वर्ष की अभूतपूर्व उपलब्धियों पर बधाई देता हूं।. अपनी प्राकृतिक सुंदरता, मजबूत लोकतंत्र और प्रतिभासंपन्न लोगों की वजह से इस देश का भविष्य उज्वल है।. भारत के लोगों के प्रति Kyrgyz लोगों की दोस्ती और प्रेम ह्रदय को छू लेने है। अपने पिछले प्रवास में और इस बार भी मैंने यहां बिल्कुल घर जैसा अपनापन महसूस किया है।

Excellency, 

मैं, आपको SCO समिट की सफल अध्यक्षता पर शुभकामनाएं देता हूं। आपकी अध्यक्षता में, क्षेत्रीय सहयोग को और बेहतर बनाने में SCO ने अनेक कदम उठाएं हैं। पिछले महीने नई दिल्ली में, मेरे शपथ ग्रहण समारोह को आपने सुशोभित किया। मैं आपका बहुत आभारी हूं। मुझे इस बात की भी खुशी है कि आज आप के साथ अपने द्विपक्षीय संबंधों की समीक्षा करने का अवसर प्राप्त हुआ। भारत और Kyrgyz Republic दोनों ही आपसी संबंधों को बहुत अधिक महत्व देते हैं।

Friends,

आज मेरी राष्ट्रपति जीन्बेकोव के साथ अनेक मुद्दों पर व्यापक चर्चा हुई। हम दोनों ही अनुभव करते हैं कि हमारे बीच सहयोग की अपार संभावनाएं हैं। आज हमने अपने द्विपक्षीय सबंधों को strategic partnership के स्तर पर ले जाने का निर्णय लिया है। इससे हमें अपनी साझेदारी के प्रत्येक क्षेत्र में दीर्घकालिक सहयोग करने में मदद मिलेगी।

Friends, 

दो प्राचीन और गौरवशाली सभ्यताओं के रूप में, हम एक-दूसरे से स्वभाविक रूप से जुड़े हुए हैं। भारत और मध्य एशिया के गहरे ऐतिहासिक और सांस्कृतिक संबंध रहे हैं। भारत और Kyrgyz Republic महाकाव्यों की भूमि है। उदाहरण के लिए भारत में महाभारत और रामचरित मानस और Kyrgyz Republic में मानस। हम दोनों देश लोकतंत्र हैं और विविधता से भरे हैं।

Leave a Reply