Panel Discussion on "Making of New India: Transformation Under Modi Government" on Wed, 16th January, 2019 at 5:30 PM, Deputy Speaker Hall Annexe, Constitution Club of India, Rafi Marg, New Delhi

Salient Points of PM’s address at the launch of historic Support and Outreach Initiative for MSME sector

आपको 59 मिनट में लोन की सैद्धांतिक स्वीकृति मिल गई, लेकिन ये भी तो अहम है कि ब्याज किस दर पर मिल रहा है।

अब जो मैं कहने जा रहा हूं, उसे ध्यान से सुनिएगा, गौर से सुनिएगा

GST पंजीकृत हर MSME को एक करोड़ रूपये तक के नए कर्ज या इन्‍क्रीमेंटल लोन की रकम पर ब्याज में 2 प्रतिशत की छूट दी जाएगी।

मैंने जो ईमानदारी की प्रतिष्ठा की बात की थी। ये उसी का विस्तार है।अब GST से जुड़ना और Tax भरना आप की ताकत बनेगा, आपको ब्याज में 2 प्रतिशत की छूट दिलवाएगा

निर्यातकों को Pre-Shipment और Post Shipment की अवधि में जो लोन मिलता है उसकी ब्याज की दर में छूट को भी सरकार ने 3 प्रतिशत से बढ़ाकर 5 प्रतिशत करने का निर्णयलिया है

वो सारी कंपनियां जिनका टर्नओवर 500 करोड़ से ऊपर है, उनको अब Trade Receivables e- Discounting System यानि TReDS Platform पर लाना ज़रूरी कर दिया गया है।ताकि MSME’s को कैश फ्लो में दिक्कत न आए

पिछले वर्ष में लगभग 1 लाख 14 हजार करोड़ रुपए का सामान सरकारी कंपनियों ने अलग-अलग स्रोतों से खरीदा है।अब तक जो नियम चला आ रहा था, वो ये था कि सरकारी कंपनियों को 20 प्रतिशत खरीदारी माइक्रो और स्मॉल इंटरप्राइजेज यानि सूक्ष्म और लघु उद्योगों से करना जरूरी था

लघु उद्योगों को इंस्पेक्टरराज से मुक्ति दिलाने में ये फैसला बहुत महत्वपूर्ण साबित होगा।अब कोई Inspectorआपके यहां ऐसे ही नहीं आ जाएगा, उससे पूछा जाएगा कि तुम क्यों उस फैक्ट्री में गए थे, क्या मकसद था

Leave a Reply