Special Address by Shri Amit Shah, Union Home Minister & National President, BJP on "Abolition of Triple Talaq: correcting a historic wrong" on Sunday, 18th August 2019 at 5.30 pm, Mavlankar Hall, Constitution Club of India, Rafi Marg, New Delhi

Salient Points of PM Modi’s address on International Yoga Day Celebrations in Ranchi, Jharkhand

अब मुझे आधुनिक योग की यात्रा शहरों से गांवों की तरफ ले जानी है, गरीब और आदिवासी के घर तक ले जानी है।

मुझे योग को गरीब और आदिवासी के जीवन का भी अभिन्न हिस्सा बनाना है।

क्योंकि ये गरीब ही है जो बीमारी की वजह से सबसे ज्यादा कष्ट पाता है

योग अनुशासन है, समर्पण हैं, और इसका पालन पूरे जीवन भर करना होता है।

योग आयु, रंग, जाति, संप्रदाय, मत, पंथ, अमीरी-गरीबी, प्रांत, सरहद के भेद से परे है।

योग सबका है और सब योग के हैं

आज हम ये कह सकते हैं कि भारत में योग के प्रति जागरूकता हर कोने तक, हर वर्ग तक पहुंची है।

Drawing rooms से Board Rooms तक, शहरों के Parks से लेकर Sports Complexes तक,

गली-कूचों से वेलनेस सेंटर्स तक आज चारों तरफ योग को अनुभव किया जा सकता है

Yoga is ancient and modern.

It is constant and evolving.

For centuries, the essence of Yoga has remained the same:

Healthy body, Stable mind, Spirit of oneness.

Yoga provides a perfect blend of ज्ञान or knowledge, कर्म or work and भक्ति or devotion

Leave a Reply