Discussion on "AatmaNirbhar Bharat & West Bengal" on Saturday, 19th September 2020 at 7 PM

Inauguration of an Exhibition on “Dr. Syama Prasad Mookerjee: A Selfless Patriot” by Shri Amit Shah, National President, Bharatiya Janata Party at Nehru Memorial Museum and Library, Teen Murti House, New Delhi


 

The Nehru Memorial Museum and Library (NMML) under Ministry of Culture and Dr. Syama Prasad Mookerjee Research Foundation, New Delhi organized an inaugural function of the Exhibition titled ‘Dr. Syama Prasad Mookerjee: A Selfless Patriot’ in the Auditorium of the Nehru Memorial Museum and Library, New Delhi here today. Dr. Mahesh Sharma, Minister of State for Culture and Tourism (I/C) and Civil Aviation presided over the function. Shri Amit Shah, National President, Bharatiya Janata Party inaugurated the exhibition which covered multifaceted aspects of the life and legacy of Dr. Syama Prasad Mookerjee. Speaking on the occasion Shri Amit Shah stressed on various contributions made by Dr. Syama Prasad Mookerjee. He said that the contemporary historians neglected the contributions of Dr. Mukherjee especially his role in the Bengal Partition Scheme and Kashmir issues.

2                DSC_9253

Prof. Tathagata Roy, Governor of Tripura, while delivering the Special Lecture on Dr. Syama Prasad Mookerjee highlighted Dr. Syama Prasad Mookerjee’s remarkable achievements in his short life. Prof. Lokesh Chandra, President Indian Council for Cultural Relations and Chairman, Executive Council, NMML attended the event. Dr. Anirban Ganguly, Director, Dr. Syama Prasad Mookerjee Research Foundation welcomed the audience and Shri Sanjiv Mittal, Director, NMML gave the vote of thanks.

Courtesy- PIB

DSC_9454         DSC_9484

29 जून 2016 , : नेहरू स्मारक संग्रहालय एवं पुस्तकालय और डॉ. श्यामा प्रसाद मुखर्जी शोध अधिष्ठान के संयुक्त तत्वाधान में बुधवार को नेहरू स्मारक संग्रहालय एवं पुस्तकालय के सभागार में एक प्रदर्शनी व विशेष व्याख्यान का आयोजन किया जिसका शीर्षक ‘डॉ. श्यामा प्रसाद मुखर्जी: एक नि:स्वार्थ देशभक्त ’ था । संस्कृति एवं पर्यटन राज्य मंत्री (स्वतंत्र प्रभार) और नागरिक विमानन राज्य मंत्री डॉ. महेश शर्मा ने इस समारोह की अध्यक्षता की। भारतीय जनता पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष श्री अमित शाह ने इस प्रदर्शनी का उद्घाटन किया जिसमें डॉ. श्यामा प्रसाद मुखर्जी के जीवन एवं विरासत के बहुमुखी पहलुओं को कवर किया गया। इस अवसर पर बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह ने डॉ. श्यामा प्रसाद मुखर्जी के विभिन्न योगदानों को रेखांकित किया। उन्होंने कहा कि समकालीन इतिहासकारों ने डॉ. मुखर्जी के योगदानों, विशेष रूप से बंगाल विभाजन योजना एवं कश्मीर से जुड़े मुद्दों में उनकी भूमिका की उपेक्षा की थी बड़ा तबका मानता है कि डॉ. श्यामा प्रसाद मुखर्जी की मौत दरअसल हत्या’ थी।

6

त्रिपुरा के राज्यपाल प्रो. तथागत रॉय ने अपने विशेष व्याख्यान में वर्ष 1953 में कश्मीर में मुखर्जी कि मौत से जुडी परिस्थितियों पर सवाल उठाये, उन्होंने डॉ. मुखर्जी के अपने छोटे से जीवन में हासिल की गई अनेक उल्लेखनीय उपलब्धियों पर रोशनी डाली। भारतीय सांस्कृतिक संबंध परिषद के अध्यक्ष और एनएमएमएल की कार्यकारी परिषद के अध्यक्ष प्रो. लोकेश चंद्र ने इस कार्यक्रम में भाग लिया। डॉ. श्यामा प्रसाद मुखर्जी शोध अधिष्ठान के निदेशक डॉ. अनिर्बान गांगुली ने स्वागत भाषण दिया और एनएमएमएल के निदेशक श्री संजीव मित्तल ने धन्यवाद ज्ञापन दिया। इस कार्यक्रम में केन्द्रीय मंत्री गिरिराज सिंह, सांसद भूपेंद्र यादव,साक्षी महाराज,प्राख्यात लोकगायिका मालिनी अवस्थी समेत कई गणमान्य लोगों ने अपनी उपस्थिति दर्ज कराई। डॉ. श्यामा प्रसाद मुखर्जी के जीवन पर लगी यह प्रदर्शनी छ: जुलाई तक चलेगी।

3      2      3

Leave a Reply